October 23, 2021

कान फिल्म समारोह में भारत अपनी संस्कृति और सिनेमाई धरोहर का करेगा प्रदर्शन – सूचना प्रसारण सचिव

 3,413 total views,  2 views today

कान फिल्म समारोह में भारत अपनी संस्कृति और सिनेमाई धरोहर का प्रदर्शन करेगा। यह बात सूचना और प्रसारण सचिव अमित खरे ने कही है ।
भारतीय पैवेलियन का वर्चुअल उद्घाटन करते हुए उन्होंने कहा कि समारोह में, फिल्म निर्माण के क्षेत्र में भारत में हुई प्रगति को भी दर्शाया जाएगा। उन्होंने कहा कि इसी वर्ष भारतीय स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ के समारोह शुरु हो रहे हैं जिसे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज़ादी का अमृत महोत्सव कहा है।

6 से 17 जुलाई तक चलेगा फेस्टिवल

दुनिया का सबसे प्रतिष्ठित फिल्म फेस्टिवल्स  में से एक कान फिल्म फेस्टिवल की 6 जुलाई से 17 जुलाई तक आयोजित किया जा रहा है । इस फेस्टिवल की शुरुवात 1939 में हुई थी ।  बीते साल इसे कोरोना महामारी की वजह से स्थगित कर दिया गया था ।  हर साल इस फेस्टिवल को वैश्विक स्तर पर मनाया जाता है । फेस्टिवल में दुनियाभर के टॉप डायरेक्टर्स की फिल्मों को प्रदर्शित किया जाता है ।कान फिल्म फेस्टिवल का एक मुख्य आकर्षण, कान डॉक्स-इन-प्रोग्रेस  है ।यह मार्चे डू फिल्म का हिस्सा है । इस साल, भारत, नेपाल, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से डॉक्यूमेंटरीज ‘कान्स डॉक्स-इन-प्रोग्रेस’ का हिस्सा हैं ।पार्थ दास की ‘इंडियाज थर्टीन डेस्टिनेशंस ऑफ अ ट्रैवलर’ इस फेस्टिवल में फीचर होगी ।

सिनेमा प्रयोग का अनूठा माध्यम

इस अवसर पर सूचना और प्रसारण मंत्रालय में अपर सचिव नीरजा शेखर ने कहा कि सिनेमा विचारों, अवधारणाओं, प्रेरणा, प्रयोग, विवेचना और अनुभूति का माध्यम है। उन्होंने कहा कि विभिन्न भाषाओं में भारतीय सिनेमा जो मनोरंजन उपलब्ध करा रहा है, वह अनूठा है। उन्होंने फिल्म उद्योग के सदस्यों से कहा कि वे फिल्म से जुड़े किसी भी सहयोग के लिए भारत सरकार से अनुरोध कर सकते हैं। सुश्री नीरजा शेखर ने कहा कि भारत ने तीस से अधिक देशों के साथ लोक प्रसारण समझौते किए हैं।