October 3, 2022

राष्‍ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस: जानें आज क्यों मनाया जाता है राष्‍ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस, और क्या है इस बार की थीम..

 1,414 total views,  2 views today

हर वर्ष 11 मई को राष्‍ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस के रूप में मनाया जाता है । इसकी शुरूवात 11 मई 1999 से हुई । तबसे हर साल इस दिवस को मनाया जाता है । दरअसल 11 मई 1998 को भारत ने परमाणु परीक्षण किया था ।  पोखरण, राजस्थान में कुल 5 परीक्षण हुए थे, जिसमें से तीन 11 मई को किए गए एवं दो 13 मई को किए गए । 11 मई को आयोजित परीक्षण में 5.3 रिक्टर पैमाने पर भूकंपीय कंपन दर्ज करते हुए तीन परमाणु बम विस्फोट किए गए, तभी से भारत में राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस मनाने की शुरुआत हुई ।

एक वजह यह भी

आपको बताते चले कि 11 मई को ही डिफेंस रिसर्च एंड डेवेलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (DRDO) ने त्रिशूल मिसाइल का सफल परीक्षण किया था। त्रिशूल शॉर्ट रेंज की मारक क्षमता वाली मिसाइल है, जो  अपने लक्ष्य पर तेजी से हमला करती है। इसके अलावा इसी दिन भारत के पहले एयरक्राफ्ट Hansa-3 ने उड़ान भरी थी। इसे नेशनल एयरोस्पस लैब ने तैयार किया था। यह दो सीटर हल्का विमान है, जिसका उपयोग पायलटों को ट्रेनिंग देने, हवाई फोटोग्राफी और पर्यावरण संबंधी प्रोजेक्ट्स के लिए किया जाता है। तत्कालीन पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी  ने भारतीय वैज्ञानिकों और इंजीनियर्स के योगदान को याद करते हुए नेशनल टेक्नोलॉजी डे  मनाने का ऐलान किया था। तब से विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय इसे हर साल 11 मई को सेलिब्रेट करता है।

2022 की थीम

इस वर्ष राष्‍ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस की थीम
सतत भविष्य के लिए विज्ञान और प्रौद्योगिकी में एकीकृत दृष्टिकोण (Integrated Approach in Science & Technology for Sustainable Future)  है ।