July 1, 2022

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने निमोनिया से बचाव के लिए वैक्सीन की राष्ट्रव्यापी शुरुआत की

 592 total views,  2 views today

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने आज यूनिवर्सल इम्यूनाइजेशन प्रोग्राम के तहत न्यूमोकोकल न्यूमोनिया और दिमाग के इंफेक्शन से बचाव वाले (PCV) टीके की राष्ट्रव्यापी शुरुआत की। अब यह टीका नियमित टीकाकरण कार्यक्रम में मुफ्त उपलब्ध होगा। PCV का टीका बच्चे को न्यूमोनिया का खतरा और अस्पताल में भर्ती होने की आशंका को कम करता है। पहले ये टीके पांच राज्यों में लगाए जाते थे लेकिन आजादी के अमृत महोत्सव के तहत आज से पूरे देश मे ये वैक्सीन मुफ्त लगाई जाएगी।

न्यूमोनिया से होती है 60 फीसदी बच्चों की मौत

इस मौके पर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि बच्चे देश के भविष्य हैं और गरीब परिवार के बच्चे भी अब ये टीका लगवा सकेंगे। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने सबको वैक्सीन, मुफ्त वैक्सीन नामक अभियान चलाया है और मिशन इंद्रधनुष के तहत सभी बच्चों को मुफ्त टीका लगाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि 60 फीसदी बच्चों की मौत न्यूमोनिया से होती है। इसलिए सरकार ने यह सुनिश्चित किया है कि टीके के अभाव में इस बीमारी से एक भी बच्चे की मौत न हो। आपको बता दें कि PCV छोटे बच्चों को न्यूमोकोकल न्यूमोनिया से सुरक्षा देने का प्रभावी माध्यम है। केंद्र सरकार ने कहा कि PCV एक सुरक्षित टीका है। दूसरे टीके की तरह ही इससे भी बच्चे को टीकाकरण के बाद हल्का बुखार और टीके वाली जगह पर सूजन,दर्द और लालीपन हो सकता है। PCV वैक्सीन की तीन खुराक होती है, जिसकी पहली डोज बच्चे को डेढ़ महीने पर, दूसरी डोज साढ़े तीन महीने और तीसरी 9 महीने पर लगती है। यह वैक्सीन न्यूमोकोकी कुल (Pneumococci Family) के कई जीवाणुओं के मिश्रण से तैयार की गई है, जिन्हें निमोनिया का कारण माना जाता है। इसलिये वैक्सीन के नाम में कॉन्जुगेट शामिल है।