October 3, 2022

उत्तराखंड: केदारनाथ में बाबा के दर्शन को पहले दिन पहुंचे सबसे अधिक 25 हजार यात्री

 2,672 total views,  4 views today

पंतनगर: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि कोरोना काल में दो साल तक केदारनाथ में भोले बाबा के दर्शन करने के लिए यात्री नहीं जा पाये, लेकिन इस बार बाबा के दर्शन को यात्रियों की काफी भीड़ उमड़ रही है। पहले दिन बाबा के दर्शन को पहले 10 हजार तक यात्री पहुंचते थे, लेकिन इस बार पहले दिन 22 से 25 हजार तक यात्री बाबा के दर्शन को पहुंचे थे, जबकि रात में खुले छत के नीचे करीब 5 से 6 हजार यात्री मौजूद रहे थे।

बोले अतिथि देवो भव की तर्ज पर होगा यात्रियों का स्वागत

रविवार को सीएम जीबी पंत विश्वविद्यालय के डॉ. रतन सिंह सभागार में पत्रकारों के एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने पत्रकारों से कहा कि पत्रकार संविधान का चौथा स्तंभ है। इसलिए हर खबर को पारदर्शिता के साथ लिखनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पिछले दिनों केदारनाथ में 21 यात्रियों की मौत की खबर प्रकाशित हुई थी। जांच में यह मौत उनके खुद के स्वास्थ्य खराब होने के कारण पायी गयी थी, लेकिन मीडिया में खबर इस तरह की खबर आने से गलत संदेश गया है। उन्होंने कहा कि हर यात्री को अतिथि देवो भव की तर्ज पर सुविधा देने का प्रयास किया जा रहा है। पिछले ढाई माह से इसकी मॉनिटरिंग वे खुद कर रहे हैं।

कैंची धाम में पार्किंग के लिए स्वीकृत हुई 50 लाख की धनराशि

उन्होंने कहा कि केदारनाथ यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन कराने में जोर दिया गया है। साथ ही जिन लोगों का स्वास्थ्य ठीक नहीं है उनसे यात्रा में नहीं आने की अपील की गयी है। उन्होंने कहा कि कैंची धाम मंदिर में पार्किंग के लिए 50 लाख रुपये स्वीकृत किये गये हैं। इसी तरह अन्य स्थानों पर भी पार्किंग की व्यवस्था की जाएगी।

उत्तराखंड में जल्द किया जाएगा सिविल कोट लागू

इसके अलावा 12 फरवरी 2022 को नई सरकार के गठन के पहले दिन ही सर्वसम्मति से सभी के लिए एक समान कानून को लागू किया गया। इसके अलावा जल्द ही उत्तराखंड में सिविल कोट भी लागू किया जाएगा। इसके लिए गठित कमेटी ड्राफ्ट तैयार कर रही है। उन्होंने कहा कि पत्रकारों के लिए सुरक्षा कानून समेत अन्य मांगों पर भी गंभीरता से काम किया जाएगा।