June 15, 2024

Khabribox

Aawaj Aap Ki

उत्तराखण्ड: पुलिस की एसडीआरएफ ने रचा नया कीर्तिमान,इन दो महिला जवानों ने रचा इतिहास

आज सुबह 08:15 बजे SDRF के 11 जवानों ने गंगोत्री-I (21889 ft) पर्वत को सफलतापूर्वक समिट कर लिया गया है। विगत 9 सितम्बर को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी  ने SDRF के इस 17 सदस्यीय गंगोत्री-I पर्वतारोहण अभियान 2021 का फ्लैग ऑफ किया था। मौसम पर्वतारोहण के अनुकूल न होने के साथ ही ठंडी हवा की रफ्तार और भारी बर्फबारी के बावजूद माउंट गंगोत्री पीक को सफलतापूर्वक समिट किया । इस गौरवान्वित करने वाले पल में डिजीपी अशोक कुमार ने टीम को  हार्दिक शुभकामनाएं दी हैं ।

जीवन बदलने वाला अनुभव हो सकता है

पर्वतारोहण मात्र एक अभियान नहीं, बल्कि यह प्राणपोषक, पुरस्कृत और जीवन बदलने वाला अनुभव हो सकता है। यह आम बात नहीं है अपितु इसके लिए अदम्य साहस और कुछ कर गुजरने का जुनून अनिवार्य है। इस रोमांचित सफर में दृढ़ता व धैर्य दोनों आवश्यक है। उच्च ऊँचाई पर असहनीय ठंड, ऑक्सीजन की कमी, हिमस्खलन का खतरा जैसी कई कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है। जिससे पार पाने के लिये शारिरिक और मानसिक दृढ़ता जरूरी है।इन्ही बातों को ध्यान में रखते हुए इस 17 सदस्यीय टीम का चयन भी किया गया था। गंगोत्री-I को समिट करने हेतु टीम को लगातार तीन दिवस तक खराब मौसम व बर्फबारी के कारण समिट कैम्प में ही इंतज़ार करना पड़ा। 29 सितम्बर 2021 को 00:30 बजे मौसम थोड़ा ठीक होते ही टीम ने समिट हेतु समिट कैम्प से आरोहण शुरू किया व सुबह 08ः15 पर गंगोत्री-I को सकुशल समिट कर उत्तराखंड पुलिस का झंडा फहराया गया।

इस अभियान के माध्यम से रचा नया कीर्तिमान

एसडीआरएफ द्वारा इस अभियान के माध्यम से एक नया कीर्तिमान रचा गया है। यह उत्तराखंड पुलिस के इतिहास में पहली बार है कि पर्वतारोहण के ऐसे जोखिमभरे अभियान की कमान एक महिला ,इंस्पेक्टर सुश्री अनिता गैरोला द्वारा सम्भाली गयी। इसके अतिरिक्त 11 सदस्यीय एसडीआरएफ
की जिस पर्वतारोहण टीम ने गंगोत्री-I को समिट किया, उनमे महिला आरक्षी सुश्री प्रीति मल भी शामिल रही, जिन्होंने किसी भी पीक को समिट करने वाली प्रथम महिला कर्मी होने का गौरव हासिल किया है। उत्तराखण्ड पुलिस का महिला सशक्तीकरण का अनूठा उदाहरण देता SDRF का यह अभियान निश्चित रूप में प्रदेश की सभी नारीशक्ति में साहस एवं नई ऊर्जा का संचार करेगा।