January 21, 2022

उत्तराखंड टॉप टेन न्यूज़( 16 सितंबर,भाद्रपद, शुक्ल दशमी, वि.सं. 2078)

 3,294 total views,  2 views today

◆ मुख्यमंत्री ने जन्मदिन के अवसर पर मीडिया से बातचीत करने के दौरान उन्होंने कहा कि मार्च 2022 तक उत्तराखंड में होने वाली प्रतियोगी परीक्षाओं का आवेदन शुल्क माफ किया जाएगा।

◆ उत्तराखंड हाईकोर्ट ने गुरुवार को चारधाम यात्रा पर लगी रोक को हटा दिया। कोर्ट ने यात्रा शुरू करने को लेकर राज्य सरकार द्वारा दायर शपथपत्र पर सुनवाई की।

◆ नैनीताल: यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने कहा कि शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन वह बेरोजगारी दिवस के रूप में मनाएंगे।

◆ राजधानी दून में 17 सितंबर से तीन दिवसीय देहरादून इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल का आगाज हो रहा है।

◆ राज्य वन सेवा के लिए केंद्रीय अकादमी, देहरादून में दो साल के पाठ्यक्रम में भाग लेने वाले 33 राज्य वन सेवा (एसएफएस) प्रशिक्षुओं ने आज भारतीय सैन्य अकादमी का दौरा किया। इस दौरान उन्हें अकादमी में अपनाई जा रही प्रशिक्षण के बारे में जानकारी दी गई।

◆ मौसम विज्ञान केंद्र देहरादून के अनुसार गढ़वाल एवं कुमाऊं मंडल में अगले दो दिनों तक कुछ स्थानों पर घने बादल छाए रहेंगे और हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना जताई है। वहीं मैदानी जिलों में भी कुछ जगहों पर हल्की और मध्यम बौछारें पड़ सकती हैं।

◆ चमोली: जिलाधिकारी हिमांशु खुराना ने बद्रीनाथ धाम में मास्टर प्लान के तहत प्रस्तावित निर्माण कार्यो का स्थलीय निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने प्रोजेक्ट इंप्लिमेंटेशन यूनिट को बद्रीनाथ में प्रथम चरण के तहत प्रस्तावित निर्माण कार्यो में तेजी लाने के निर्देश दिए।

◆ राज्य में विधानसभा चुनाव नजदीक आते ही सत्ता रुढ़ दल भाजपा ने भी अपनी तैयारियां तेज कर दी है। केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री और भाजपा के चुनाव प्रभारी प्रह्लाद जोशी अपने दो दिवसीय दौरे पर आज उत्तराखंड पहुंच गये है। उनके साथ सह प्रभारी लॉकेट चटर्जी और आरपी सिंह भी मौजूद है।

◆ अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत देहरादून में स्वच्छता ही सेवा कार्यक्रम की शुरुआत हुई। यह कार्यक्रम 2 अक्टूबर तक मनाया जायेगा। मुख्य विकास अधिकारी नितिका खंडेलवाल ने विकास भवन से स्वच्छता रथ और नुक्कड़ नाटक की टीम को जिलेभर में जागरुकता लाने के लिए हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

◆ राज्यपाल गुरमीत सिंह ने प्रदेशवासियों को विश्वकर्मा जयंती की बधाई देते हुए कहा कि भगवान विश्वकर्मा शिल्प और सृजन के देवता हैं। उनको पौराणिक सिविल इंजीनियर भी माना जाता है। उन्होंने आशा व्यक्त की है कि यह पावन पर्व प्रदेशवासियों के जीवन में सुख एवं समृद्धि लायेगा।