October 23, 2021

अल्मोड़ा: लोकपर्व हरेला के अवसर पर साढ़े चार लाख पौधे लगाने का लक्ष्य, सीडीओ ने दिए निर्देश

 1,866 total views,  2 views today

आज मुख्य विकास अधिकारी नवनीत पाण्डे की अध्यक्षता में आगामी 16 जुलाई को लोकपर्व हरेला के अवसर पर जनपद अन्तर्गत वृहद पौधारोपण कार्यक्रम के दृष्टिगत अद्यतन तैयारियों की समीक्षा की गयी।

लगभग साढ़े चार लाख पौधे लगाने का लक्ष्य-

जिसमें मुख्य विकास अधिकारी नवनीत पाण्डे ने हरेला पर्व के अवसर पर लगभग साढ़े चार लाख पौधों के लक्ष्य को पूर्ण करने एवं अन्य तैयारियों को समय से पूर्ण करने के निर्देश दिये।

कोविड सम्बंधी दिशानिर्देशों का अनुपालन करते हुए हो पौधारोपण-

मुख्य विकास अधिकारी नवनीत पाण्डे ने कहा कि  पूर्ण मनोयोग एवं तत्परता के साथ सभी रीचार्ज जोन हेतु नामित नोडल अधिकारियों को अपने-अपने रीचार्ज क्षेत्रों में हरेला पर्व पर उपस्थित रहते हुए जन प्रतिनिधियों तथा जन सहभागिता द्वारा पौधारोपण कार्य सम्पन्न कराना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने देवभूमि उत्तराखण्ड की संस्कृति के द्योतक “हरेला” लोकपर्व को हर्ष के साथ मनाने एवं कोविड सम्बंधी दिशानिर्देशों का अनुपालन करते हुए अधिकाधिक पौधारोपण हेतु जन सामान्य के सहयोग एवं भागीदारी की अपेक्षा की, जिससे शासन द्वारा ईको सिस्टम रिस्टोरेशन के सन्दर्भ में किए जा रहे प्रयासों को गति प्राप्त हो सके।

जिला विकास अधिकारी, के०के० पंत द्वारा तैयारियों के संबंध में दी गई जानकारी-

इस अवसर पर जिला विकास अधिकारी, के०के० पंत द्वारा आगामी हरेला पर्व पर कोसी नदी जलागम क्षेत्र अन्तर्गत हवालबाग एवं ताकुला, कोसी नदी की सहायक नदियाँ कुंजगढ़ एवं सरौतागाड़ के जलागम क्षेत्र ताड़ीखेत एवं द्वाराहाट में वृहद पौधारोपण कार्य हेतु आवश्यक तैयारियों के सम्बन्ध में विस्तृत रूप से जानकारी दी गयी। उन्होंने बताया कि कोसी, कुंजगढ़ एवं सरौतागाड़ जलागम क्षेत्र में “कोसी नदी पुनर्जनन परियोजना” अंन्तर्गत, एस०एस०बी अल्मोड़ा, रानीखेत, आई०टी०बी०पी०, ग्राम प्रधानों, वन सरपंचों, जन प्रतिनिधियों एवं महिलाओं के सहयोग से हरेला के अवसर पर 2 लाख  15 हजार से अधिक पौधों का रोपण किया जायेगा।

इस दौरान यह लोग रहे मौजूद-

इस दौरान बैठक में परियोजना निदेशक, डीआरडीए शैलेन्द्र सिंह बिष्ट, मुख्य कृषि अधिकारी श्रीमती प्रियंका सिंह, एन.एस. रावत, हिमांशू भट्ट, कुंदन सिंह, आर पी डोभाल, पंकज काण्डपाल, किशन राम, शाकिर हुसैन, रवि सैनी, आलोक गाग्र्य, समेत अन्य खण्ड विकास अधिकारी, उप कार्यक्रम अधिकारी, परियोजना समन्वयक शिवेंद्र प्रताप सिंह, फील्ड ऑफिसर नाजिया परवीन, सुशीला भोज आदि मौजूद रहे ।