February 8, 2023

Khabribox

Aawaj Aap Ki

अल्मोड़ा: जागेश्वर विधानसभा के गूराड़ाबांज आए पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, सभा को संबोधित करते हुए कही यह बात

 4,045 total views,  2 views today


पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत जागेश्वर विधानसभा के गूराड़ाबांज में पहुचे। जहां कार्यकर्ताओं द्वारा उनका भव्य स्वागत किया गया। जिसमें पूर्व सैनिक सम्मान में सभा का आयोजन किया गया था।

पूर्व मुख्यमंत्री ने किया सभा को संबोधित-

मंच में पहुचने पर पूर्व मुख्यमंत्री ने जागेश्वर जगनाथ धाम की जय के साथ सभा को संबोधित किया। पूर्व मुख्यमंत्री ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा आज गांव में 20 से 40 प्रतिशत लोगो को गरीबी में जूझना पड़ रहा है। उनकी भी आकांक्षाएं बच्चों को अच्छी शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार पाना है। जो एक अच्छे घर के बच्चे को मिल रहा है। हम ऐसे राज्य का निर्माण करना चाहते हैं।  राज्य में रोजगार के लिए हमारी सरकार ने कई रोजगार परख संस्थानों, सड़को, पर्यटन को आगे बढ़ाने का काम किया। वर्तमान सरकार ने की संस्थाओं को बनते बनते बंद कर दिया।  समाज कल्याण पेंशन में गौरादेवी,  नंदगौरी सहित कई कल्याणकारी योजनाओं को बंद कर दिया गया है। वृद्ध महिला पोषण, बच्चों को पोषाहार, गर्भवती महिला पोषण हार योजनाओं को सार्वभौमिक पोषिट योजना के रूप में लागू किया जाएगा जब कांग्रेस की सरकार दुबारा से सत्ता में आएगी । पांच साल की सरकार में राज्य के सभी लोग गर्व महसूस करेंगे। आज हमने अपने पहाड़ी क्षेत्रों में होने वाले अनाजो को एक अंतरराष्ट्रीय बाजार उपलब्ध कराया है। जिसमे मडुवा, जिघुरा, चुवा जो बाजार में  ग्रामीण किसानों से मिलता है और उनकी आजीविका में बढ़ोतरी हो रही है। लेकिन वर्तमान सरकार गैस सिलेंडर, कडुवा तेल, पेट्रोल डीजल, यातायात किराया को बड़ा कर गरीबो को त्रस्त कर दिया है।  वर्तमान बीजेपी सरकार कभी आठ लाख, दो लाख व28 हजार नौकरी की बात की जा रही है लेकिन आज तक 28 युवाओं को नौकरी नही दे पाई। राज्य में पांच साल में तीन मुख्यमंत्रियों की घोषणाएं भी युवाओं को लगातार नौकरियों का झांसा दिया जा रहा है। लेकिन इस बार वीजेपी की सरकार को सत्ता में जनता काबिज नही रहने देगी। सरकार की अफवाहें अब ज्यादा समय नही टिकने वाली है। 

कही यह बात-

वही पूर्व मुख्यमंत्री रावत ने जागेश्वर विधानसभा विधायक गोविंद सिंह कुंजवाल को देवभूमि में एक पार्टी कर्मठ सेवक बताया। जो लगनशील, सहनशीलता व सामाजिक व गरीबो के मसीहा है।