February 2, 2023

Khabribox

Aawaj Aap Ki

अल्मोड़ा: पर्यावरण संस्थान, अल्मोड़ा एवं भारतीय स्टेट बैंक अल्मोड़ा के साझा कार्यक्रम राष्ट्रीय ग्रीन ट्रिबूनल का प्रचार-प्रसार के तहत बहुमूल्य औषधीय पादपों का वृहद पौधरोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया

 2,437 total views,  2 views today

गोविन्द बल्लभ पंत राष्ट्रीय हिमालयी पर्यावरण संस्थान, अल्मोड़ा एवं भारतीय स्टेट बैंक अल्मोड़ा के साझा कार्यक्रम राष्ट्रीय ग्रीन ट्रिबूनल  का प्रचार-प्रसार के तहत बहुमूल्य औषधीय पादपों का वृहद पौधरोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

वर्तमान में सूर्यकुंज लगभग 200 टन तक कार्बन सोख रहा है

कार्यक्रम का संचालन करते हुए डा० आई०डी० भट्ट, वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं केन्द्र प्रमुख जैव विविधता संरक्षण एवं प्रबंधन केन्द्र ने सभी प्रतिभागियों का स्वागत करते हुए बताया कि वर्ष 1992 में सूर्यकुंज की स्थापना की गयी थी जो कि वर्तमान में 200 से अधिक औषधीय एवं दुर्लभ पादप प्रजातियाँ 60 प्रकार के विविध पक्षी एवं 100 से अधिक तितलियाँ आदि का आवास के रूप में क्रियाशील है। साथ ही, डा० भट्ट ने बताया कि शोध द्वारा यह पता चला है कि वर्तमान में सूर्यकुंज लगभग 200 टन तक कार्बन सोख रहा है जो कि जलवायु परिवर्तन के प्रभावों को कम करने में सहायक सिद्ध हो सकता है। अतः हम सभी को इस प्रकार के मॉडल को बढ़ाने की आवश्यकता है।

स्थानीय समुदाय के आजीविका वृद्धि एवं पर्यावरण संरक्षण आदि में सहायक सिद्ध

इसी क्रम में डा० जी०सी०एस० नेगी केन्द्र प्रमुख सामाजिक आर्थिक विकास केन्द्र द्वारा अल्मोड़ा जनपद के ग्रामीणों हेतु बैंक द्वारा संचालित सब्सिडी योजनाओं एवं उनके फायदों को ग्रामीणों तक पहुंचाने का आग्रह किया ताकि स्थानीय ग्रामीणों की आजीविका में वृद्धि हो सके। डा० नेगी ने बताया कि वर्तमान में संस्थान सम्पूर्ण हिमालयी क्षेत्रों में जनसहभागिता के फलस्वरूप पर्यावरण संरक्षण हेतु विभिन्न शोध एवं विकास कार्य कर रहा है जो कि स्थानीय समुदाय के आजीविका वृद्धि एवं पर्यावरण संरक्षण आदि में सहायक सिद्ध हो रहे हैं।

ग्रीन ट्रिबूनल के तहत अल्मोड़ा जनपद में वृक्षारोपण कार्य करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है

कार्यक्रम में  संतोष कुमार आर्या प्रतिनिधि भारतीय स्टेट बैंक, अल्मोड़ा ने बताया कि वर्तमान में ग्रीन ट्रिबूनल के तहत अल्मोड़ा जनपद में वृक्षारोपण कार्य करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसी श्रृंखला में गत वर्ष केन्द्रीय विद्यालय अल्मोडा में वृक्षारोपण कार्यक्रम किया गया था एवं आज भारतीय स्टेट बैंक 100 से अधिक बहुमूल्य औषधीय पादपों मुख्यतः तेजपात, तिमूर, बांज, फल्याट आदि के पौध रोपण हेतु संस्थान के सूर्यकुंज में एकत्रित हुआ है। इस प्रकार की पहल का मुख्य उदेश्य राष्ट्रीय ग्रीन ट्रिबूनल का प्रचार-प्रसार करना एवं पर्यावरण संरक्षण में सहयोग करना है।

पर्यावरण संस्थान के जैव विविधता संरक्षण में किये जा रहे विकास कार्यों की सराहना की गयी

साथ ही,महेश गोस्वामी द्वारा पर्यावरण संस्थान के जैव विविधता संरक्षण में किये जा रहे विकास कार्यों की सराहना की गयी तथा उन्होंने कहा कि भविष्य में भी वे संस्थान के सहयोग द्वारा अल्मोड़ा जनपद में वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन करते रहेंगे। कार्यक्रम में वृक्षारोपण के दौरान डा० सुबोध ऐरी द्वारा विविध तकनीकों, पौध रोपण विधि एवं रख-रखाव आदि विषयों पर जानकारी प्रदान करते हुए पौधरोपण कार्यक्रम किया गया।

संस्थान के विकास कार्यों की सराहना की

इस कार्यक्रम के दौरान भारतीय स्टेट बैंक अल्मोड़ा के प्रतिनिधियों ने सूर्यकुंज का भ्रमण किया तथा संस्थान के विकास कार्यों की सराहना करते हुए भविष्य हेतु शुभकामनाएँ व्यक्त की ।

कार्यक्रम में उपस्थित रहे

कार्यक्रम में भारतीय स्टेट बैंक अल्मोड़ा के आदर्श कुमार, महेन्द्र सिंह, पिंकी कोहली, संध्या आर्या तथा संस्थान से डा० सुबोध ऐरी, डा० सतीश आर्या, डा० विक्रम नेगी, डा० आशीष पाण्डे, डा० अमित बहुखण्डी, डा० कुलदीप जोशी, मनोज मेहता, विमान ध्यानी, नरेन्द्र परिहार, दीप तिवारी, पुष्पा केवलानी, पूजा मेहता आदि लगभग 50 से अधिक शोधार्थी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।