December 7, 2021

उत्तराखंड लोक वाहिनी की बैठक में गिरीश तिवारी गिर्दा को किया गया याद, डा. शमशेर सिंह बिष्ट की तृतीय पुण्यतिथि पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमो पर हुई चर्चा

 3,161 total views,  2 views today

अल्मोड़ा: आज चेतना प्रेस में उत्तराखंड लोक वाहिनी  युवा संवाद के संयुक्त तत्वाधान मे रेवती बिष्ट की अध्यक्षता मे बैठक सम्पन्न हुई । इस अवसर पर गिरीश तिवारी गिर्दा को याद किया गया तथा डा. शमशेर सिह बिष्ट की तृतीय पुण्यतिथि पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमो पर चर्चा की गई। कार्यक्रम का संचालन अजयमित्र सिह बिष्ट ने किया ।

उत्तराखण्ड  की आवाज शिथिल पड गई है

इस अवसर पर परिचर्चा का आरम्भ करते हुवे एडवोकेट जगत रौतेला ने कहा कि इन दिनो उत्तराखण्ड  की आवाज शिथिल पड गई है
उत्तराखण्ड नये नये मुख्यमन्त्रियो की प्रयोग स्थली बनकर रह गया । ऐसे समय मे शमशेर सिह बिष्ट व गिरीश  तिवारी  गिर्दा जैसे राजनैतिज्ञ व लोक संस्कृति कर्मी बहुत याद आते है उ लो वा के महसचिव पूरन चन्द्र तिवारी ने कहा कि डा.शमशेर सिंह  बिष्ट व गिरीश तिवारी गिर्दा उत्तराखण्ड मे सामाजिक चेतना के अग्रदूत रहे । वाहनी आगामी 22सितम्बर 2022 को डा शमशेर सिंह बिष्ट की  जयन्ती को जन चेतना दिवस के रूप मे मनायेगी । उन्होने कहा कि सनातन पचांग के अनुसार गिरीश तिवारी गिर्दा की आज जन्म तिथि भी है उन्होने उन्हे अपनी श्रद्धान्जली दी ।

गिरीश तिवारी गिर्दा व डा शमशेर सिह बिष्ट युवाओ के प्रेरणा स्रोत रहे

उ लो वा प्रवक्ता दयाकृष्ण काण्डपाल ने कहा कि  वाहनी   प्रगतिशील लोक संस्कृति , राजनीति व सामाजिक चेतना का एक आन्दोलन है । इसे बनाये रखना वाहनी नेताओ का कर्तव्य है । युवा संवाद की ओर से सम्बोधित करते हुवे दीपा तिवारी ने कहा कि गिरीश तिवारी गिर्दा व डा शमशेर सिह बिष्ट युवाओ के प्रेरणा स्रोत रहे ।  उन्होने गिरीश तिवारी गिर्दा के सम्पूर्ण जीवन पर प्रकाश डाला । युवा संवाद के कुणाल तिवारी ने कहा कि गिरीश तिवारी  गिर्दा एक जनकवि ही नही बल्कि लोक राजनीति के एक स्पष्ट  चिन्तक थे ।  भास्कर भौर्याल ने हुडके की थाप पर चाचरी व लोक गीत गाकर गिर्दा को अपनी श्रद्धान्जली  दी। जंगबहादुर थापा ने इस अवसर पर विचार व्यक्त करते हुये कहा कि डा शमशेर की पुण्यतिथि पर कोरोना को ध्यान मे रखकर ही कार्यक्रम आयोजित होने चाहिये ।

दोनो के मृत्यु से एक राजनैतिक शुन्यता पैदा हो गई है

अन्त मे अध्यक्षता करते हुवे रेवती बिष्ट ने कहा कि डा शमशेर सिह बिष्ट व  गिरीश तिवारी गिर्दा  की जोडी अनुपम थी दोनो के मृत्यु से एक राजनैतिक शुन्यता पैदा हो गई है जिसे पाटने के लिये युवाओ  को आगे आना चाहिये । कार्यक्रम में भास्करानंद तिवारी,अजय मेहता,कुंदन सिंह आदि शामिल रहे।