October 4, 2022

रानीखेत: मुंबई-काठगोदाम ट्रेन बंद होने की सुगबुगाहट से जनसंगठनों में आक्रोश

 1,480 total views,  2 views today

रानीखेत में कुमाऊं क्षेत्र के निवासियों की लाइफ लाइन मानी जानी वाली मुंबई-काठगोदाम रेल को नियमित रूप से संचालित करने की मांग फिर तेज हो गई है। वहीं 16 जून के बाद इस रेल सेवा के बंद होने की सुगबुगाहट से जनसंगठनों में आक्रोश पनपने लगा है। लोगों का कहना है कि ट्रेन का फेरा बढ़ाए जाने की कई बार मांग उठने के बावजूद रेल मंत्रालय द्वारा ध्यान नहीं दिया जाता।

रेल सेवा को बंद करने की बजाय उसका फेरा बढ़ाए जाने की उठाई मांग

कुछ दिन पूर्व साप्ताहिक विशेष रेल यहां के लिए संचालित हुई थी, जिसका बड़ी संख्या में यात्रियों को लाभ मिल रहा था। एनयूजे के जिलाध्यक्ष, वरिष्ठ पत्रकार नंद किशोर गर्ग ने इस संबंध में सांसद अजय टम्टा को ज्ञापन भेजा है। ज्ञापन में उन्होंने रेल सेवा को बंद करने की बजाय उसका फेरा बढ़ाए जाने की मांग की है।