October 2, 2022

उत्तराखंड विश्वविद्यालय कर्मचारी महासंघ के उत्तराखंड राज्य प्रतिनिधि सम्मेलन 2021 की द्विवार्षिक कार्यकरिणी का किया गया गठन

 1,516 total views,  2 views today

उत्तराखंड विश्वविद्यालय कर्मचारी महासंघ के कोषाध्यक्ष श्री देवेंद्र सिंह पोखरिया ने बताया कि उत्तराखंड विश्वविद्यालय कर्मचारी महासंघ के उत्तराखंड राज्य प्रतिनिधि सम्मेलन 2021 का आयोजन दून विश्वविद्यालय देहरादून में हुआ। इस सम्मेलन की मुख्य अतिथि कुलपति प्रोफेसर सुरेखा डंगवाल एवं विशिष्ट अतिथि रूसा सलाहकार प्रोफेसर एम एस एम रावत द्वारा संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर सम्मेलन का उद्घाटन किया गया।

कर्मचारियों को और प्रशिक्षित करने की व्यवस्था का उल्लेख किया

सम्मेलन में महासंघ के कार्यक्रम अध्यक्ष श्री बी0एस0करायत एवं बिहार से आए अखिल भारतीय विश्वविद्यालय कर्मचारी महासंघ के प्रतिनिधि शंकर यादव, संगठन के संयोजक राजेन्द्र भंडारी आदि ने पदाधिकारियों एवं अतिथियों के साथ विर्मश किया।  महासंघ के कोषाध्यक्ष श्री देवेंद्र सिंह पोखरिया ने आगे बताया कि सम्मेलन के उद्घाटन सत्र में मुख्य अतिथि दून विश्वविद्यालय की कुलपति प्रोफेसर सुरेखा डंगवाल ने उच्च शिक्षा में विश्वविद्यालय कर्मचारियों की भूमिका का उल्लेख करते हुए राज्य में उच्च शिक्षा के सम्यक विकास में कर्मचारियों को और परिष्कृत और प्रशिक्षित किये जाने की आवश्कता पर जोर दिया। कार्यक्रम के अति विशिष्ट अतिथि राज्य के रुसा सलाहकार प्रोफेसर एम एस एम रावत ने रुसा के माध्यम से उच्च शिक्षा क्षेत्र में विश्वविद्यालय में कार्यरत कर्मचारियों को और प्रशिक्षित करने की व्यवस्था का उल्लेख किया।
संगठन द्वारा संगोष्ठी सत्र में विषयक विस्तृत चर्चा कर इसकी संस्तृतियां उत्तराखण्ड शासन सहित समस्त विश्वविद्यालयों को भेजने का निर्णय लिया गया।  महासंघ के कोषाध्यक्ष श्री पोखरिया ने कहा कि संगठन की आज आहूत प्रतिनिधि सभा में संगठन के सविधान को अनुमोदन प्रदान करने के साथ ग्यारह सूत्रीय मांगपत्र को भी सहमति प्रदान की गई।

सम्मेलन में सगठन के द्विवार्षिक कार्यकरिणी का गठन किया गया

सम्मेलन में सगठन के द्विवार्षिक कार्यकरिणी का गठन किया गया। जिसमें अध्यक्ष श्री कुलदीप सिंह (कुविवि,नैनीताल), वरि0 उपाध्यक्ष श्री दीपक कुमार सुंदरियाल(तकनीकी विश्वविद्यालय,देहरादून), उपाध्यक्ष के रूप में श्री भारत नैनवाल (उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय), श्री राकेश कोठारी (एचएनबी विवि0 गढ़वाल),  महामंत्री के रूप में डॉ0 लक्ष्मण सिंह रौतेला (कुविवि,नैनीताल), संयुक्त मंत्री श्री प्रशांत मेहता (दून विवि0, हरिद्वार) एवं सुभाष पोखरिया (संस्कृत विवि0हरिद्वार)  संगठनमंत्री  श्री राहुल तिवारी (आयुर्वेद विवि0 हरिद्वार), श्री धन सिंह नेगी (वीर चं0सिंह0 गढ़वाली औ0वा0विवि0भरसार), कोषाध्यक्ष श्री देवेंद्र सिंह पोखरिया (सो0सि0जी0विवि0अल्मोड़ा), संप्रेक्षक के रूप में श्री प्रकाश चंद्र तिवारी (गुरुकुल कांगड़ी वि0वि0हरिद्वार) को पदाधिकारी रूप में निर्वाचित किया गया।  इसके अलावा संगठन ने मुख्य संरक्षक रूप में श्री भूपाल सिंह करायत (अध्यक्ष, कु0वि0 कर्मचारी महासंघ), श्री राजेन्द्र सिंह भंडारी (एच.एन.बी0वि.वि. कर्मचारी संघ), उपाध्यक्ष (कनि0) श्री राजेन्द्र सिंह राणा (सो0सि0जीना वि0वि0अल्मोड़ा) एवं श्री सुरेद्र सिंह (वीर चं0सिं0 गढ़वाली औै0 एवं वा0 वि.वि0, भरसार), प्रवक्ता श्री चंदर सिंह बगियाल (तकनीकी वि0वि0देहरादून), एवं श्री नवल किशोर बिनवाल (कु0वि0वि0नैनीताल), सह कोषाध्यक्ष रूप में श्री विमल कुमार चौहान (उ0मु0विवि0) एवं श्री अनिल दत्त बेलवाल (आयुर्वेद वि0वि0 देहरादून), तकनीकी सलाहकार (वरि0) इं0नरेश खंडूरी (एच0एन0बी0विवि0गढ़वाल) को मनोनीत किया गया।

इन लोगों ने की शिरकत

इस सम्मेलन में तकनीकी विश्वविद्यालय, देहरादून से दीपक सुन्दरीयाल, चन्द्रर सिंह, मुकेश पाण्डे, देवेन्द्र बिष्ट, रघुनाथ सिंह नेगी, दून विश्वविद्यालय से प्रशान्त मेहता, आयुर्वेद विश्वविद्यालय, देहरादून से चन्द्रमोहन पैन्यूली, राहुल तिवारी, विवेक जोशी, हरीश चन्द्र गुप्ता, अनूप डिमरी, अनिल बेलवाल, शैलेश सेमवाल,  संस्कृत विश्वविद्यालय से घीरज ठाकुर, राजेन्द्र सिंह, सुभाष पोखरियाल, कुमाऊॅ विश्वविद्यालय, नैनीताल से भूपाल सिंह करायत, दीपक बिष्ट, कुलपदीप सिंह, नन्दानबल्लभ पालीवाल, वीर चन्द्र सिंह गढवाली विश्वविद्यालय, भरसार से धन सिंह नेगी, सुरैनद्र सिंह, रजनी रावत, विक्रम रावत, हेमवती नन्दन बहुगणा गढ़वाल विश्वविद्यालय, श्रीनगर से राजेन्द्र सिंह भण्डारी, राकेश कोठारी, अरविन्द रावत, अनिल डिमरी, मुक्त विश्वविद्यालय, से भरत नैनवाल, मुकेश चौहान, अनिल आर्या, सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय, अल्मोड़ा से देवेन्द्र घामी, राजेन्द्र राणा, देवेन्द्र पोखरिया, कुलदीप उपाध्याय गुरूकुल विश्वविद्यालय से प्रकाश तिवारी, विजेन्द्र सिंह, दीपक वर्मा सहित राज्य के सभी विश्वविद्यालयों के प्रतिनिधियों ने शिरकत की।