October 5, 2022

उत्तराखंड: यहाँ सरकारी नौकरी का झाँसा देकर युवाओं के साथ हुई लाखों की ठगी, जानिए पूरा मामला

 952 total views,  2 views today

नौकरी का झांसा देकर 40 लाख की ठगी, पैसा वापस मांगने मिल रही है धमकी पीड़ित ने पुलिस को सौंपा शिकायत पत्र, रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की की मांग

नौकरी का झांसा देकर पूर्व सैनिक समेत करीब 12 युवाओं को हल्द्वानी निवासी एक व्यक्ति ने अपने जाल में फंसा लिया। इन सभी से करीब 46 लाख की रकम हड़प ली। आरोप है नौकरी नहीं लगने पर जमानत के तौर पर जमा पैसे वापसी के वायदे से वह मुकर गया। उल्टा आरोपी पैसे मांगने पर धमकियां दे रहा है। मामले की पीड़ित पूर्व सैनिक द्वारा जन शिकायत डेक्स गदरपुर थाने में शिकायत पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है।

सचिवालय में उच्च अधिकारियों से अच्छी खासी पहचान का दिया झाँसा
सेवा निवृत्त सूबेदार इंदर सिंह विगत 10 वर्षों से गूलरभोज मंडी समिति परिसर में युवाओं को सेना अर्धसैनिक बल पुलिस बल व अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए युवाओं को शारीरिक व लिखित प्रशिक्षण दे रहा हैं। वर्ष 2017 के दौरान गदरपुर में एक वैवाहिक समारोह में पूर्व सैनिक की मुलाकात रितेश पाण्डे पुत्र मोहन चन्द्र पाण्डे निवासी मुखानी हल्द्वानी जनपद नैनीताल से हुई। उसने बताया कि उसकी देहरादून स्थित सचिवालय में उच्च अधिकारियों से अच्छी खासी पहचान है। वह शिक्षित बेरोजगारों को आसानी से नौकरी लगा सकता है। इसके लिए कुछ जमानत धनराशि जमा करने की बात कही साथ ही जिसे बाद में वापस करने का हवाला भी दिया। कुछ समय बाद रितेश मण्डी परिसर गूलरभोज में स्थित प्रशिक्षण केन्द्र में आकर प्रशिक्षण ले रहे युवाओं को नौकरी दिलाने का झांसा दिया। उसकी चिकनी चुपड़ी बातों में आकर करीब एक दर्जन युवाओं ने बताए गए बैंक खाते में 40 लाख 20 हजार रुपये के साथ रितेश को शैक्षिक मूल प्रमाण पत्र भी थमा दिए। काफी वक्त बीतने के बाद भी जब युवाओं की नौकरी नहीं लगी तो उन्होंने रितेश से पैसे वापस मांगे। इस पर उसने कहा कि जो भी धनराशि ली गयी है, वह सरकारी खजाने में बतौर जमानत राशि जमा की जा चुकी है। नौकरी लगते ही धनराशि सरकार द्वारा वापस कर दी जायेगी। साथ ही धमकाने लगा कि मेरे विरूद्ध कोई शिकायत की तो जान और पैसे दोनों से हाथ धोना पड़ेगा।

पीड़ित ने रितेश पांडे के विरूद्ध रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच कर कठोर कानूनी कार्रवाई करने मांग की है। ठगी के शिकार युवाओं में वीरेन्द्र यादव, बलवीर सिंह, निवासी बरहेनी, पवन बिष्ट निवासी बेरीनाग पिथोरागढ़, कमलसिंह निवासी रीमा बागेश्वर, रजत चौहान, निवासी कुण्डेश्वरी, शिवम चौहान, निवासी धामपुर बिजनौर, खेम सिंह निवासी खटोला, भास्कर सिंह निवासी रीमा बागेश्वर, दिनेश सिरोला निवासी रीमा बागेश्वर,दीपक कोश्यारी निवासी कपकोट बागेश्वर, पुनीत शर्मा निवासी बाजपुर, इंदर सिंह निवासी गूलरभोज हैं।