August 13, 2022

उत्तराखंड: उत्तराखण्ड सतत और सर्वांगीण विकास का विकल्प रहित संकल्प लेकर आगे बढ़ रहा है- सीएम धामी

 2,510 total views,  2 views today

मुख्यमंत्री  धामी ने कहा कि उत्तराखण्ड सतत और सर्वांगीण विकास का विकल्प रहित संकल्प लेकर आगे बढ़ रहा है। अपने इस संकल्प को हम तय समय में निश्चित ही सिद्ध करके दिखाएंगे। हमारा संकल्प है कि हमारा राज्य जब 25वें वर्ष में प्रवेश करे तब यह राज्य देश का श्रेष्ठ राज्य हो।
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज मसूरी स्थित लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी में आयोजित आजादी का अमृत महोत्सव डिजिटल प्रदर्शनी व सेमिनार का उद्घाटन किया। उन्होंने लाल बहादुर शास्त्री की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित करने के साथ ही परिसर में 22 राज्यों द्वारा लगाए गए स्टालों का भी भ्रमण किया।

25 वर्ष में यह देश जितना विकास करेगा, उसमें बहुत बड़ी भूमिका प्रशासनिक अधिकारियों की भी होगी

मुख्यमंत्री  धामी ने कहा कि  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन व प्रेरणा से संस्कृति मंत्रालय भारत सरकार के साथ “मिशन कर्मयोगी” के अन्तर्गत समृद्ध भारतीय संस्कृति को व्यापक स्तर पर प्रचारित करने हेतु डिजिटल प्रदर्शनी की यह महत्वपूर्ण पहल है।
मुख्यमंत्री  धामी ने प्रशिक्षुओं को सौभाग्यशाली बताते हुए कहा कि आगामी 25 वर्ष में यह देश जितना विकास करेगा, उसमें बहुत बड़ी भूमिका प्रशासनिक अधिकारियों की भी होगी।

जनसमस्याओं को सुलझा रहे हैं

“मिशन कर्मयोगी” का मुख्य लक्ष्य प्रशासनिक सेवकों को और भी अधिक रचनात्मक, सृजनात्मक, विचारशील एवं नवाचारी बनाना है। उन्होंने कहा कि हम सरलीकरण, समाधान, निस्तारीकरण एवं संतुष्टि के मूल मंत्र को आधार बना कर जनसमस्याओं को सुलझा रहे हैं। मेरी अपेक्षा है कि सभी प्रशिक्षु आने वाले समय में सरलीकरण, समाधान, निस्तारीकरण मंत्र के साथ जन सेवा करेंगे।

उत्तराखण्ड सतत और सर्वांगीण विकास का विकल्प रहित संकल्प लेकर आगे बढ़ रहा है

मुख्यमंत्री  धामी ने कहा कि उत्तराखण्ड सतत और सर्वांगीण विकास का विकल्प रहित संकल्प लेकर आगे बढ़ रहा है। अपने इस संकल्प को हम तय समय में निश्चित ही सिद्ध करके दिखाएंगे। हमारा संकल्प है कि हमारा राज्य जब 25वें वर्ष में प्रवेश करे तब यह राज्य देश का श्रेष्ठ राज्य हो।

ये रहे मौजूद

इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री  गणेश जोशी, लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी के निदेशक श्रीनिवास कटिकितला समेत प्रशासनिक अकादमी के फैकल्टी मैम्बर्स एवं भारतीय प्रशासनिक सेवा व रॉयल भूटान सिविल सर्विसेज के 2020 व 2021 बैच के प्रशिक्षु अधिकारीगण एवं अन्य लोग मौजूद रहे।