December 8, 2021

अल्मोड़ा: स्नातक/स्नातकोत्तर, द्वितीय सेमेस्टर की कक्षाओं के विद्यार्थी होंगे प्रमोट

 2,786 total views,  4 views today

अल्मोड़ा:सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय, अल्मोड़ा के माननीय कुलपति प्रो0 नरेंद्र सिंह भंडारी जी की अध्यक्षता में विश्वविद्यालय परीक्षा समिति की बैठक आयोजित हुई। जिसकी अध्यक्षता करते हुए उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय द्वारा स्नातक/स्नातकोत्तर, प्रथम सेमेस्टर के अधिकांश विषयों के परीक्षाफल घोषित कर दिए हैं जो हमारे विश्वविद्यालय के लिए गौरव की बात है। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में हम कोविड-19 से जूझ रहे हैं, ऐसी परिथितियों में हमने विश्वविविद्यालय के हित में निर्णय लिए हैं और कोविड-19 के दिशा-निर्देशों के तहत स्नातक एवं स्नातकोत्तर के प्रवेश कार्य की प्रक्रिया गतिमान है। उन्होंने सभी सदस्यों का आभार जताया। कुलपति प्रो0 भंडारी ने कहा कि आगामी स्नातक/स्नातकोत्तर, द्वितीय सेमेस्टर में भी विद्यार्थियों को आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर प्रमोट किया जाएगा। कुलपति प्रो0 नरेंद्र भंडारी ने कहा कि कोविड-19 के दौर में भी हमने विद्यार्थियों की समस्याओं का संज्ञान लेते हुए विश्वविद्यालय की वेबसाइट को निरंतर अपडेट कर सूचनाएं पहुंचाई हैं। आगे भी हम विद्यार्थियों के भविष्य को ध्यान में रखकर एवं उनकी असुविधाओं का संज्ञान लेकर वेबसाइट में सूचनाओं को निर्गत करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय की अकादमिक गतिविधियों एवं खेल गतिविधियों के संचालन के लिए कैलेंडर निर्मित कर जारी किया जाएगा।

परीक्षाओं हेतु पूरी तैयारियां की हुई हैं

बैठक में विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक प्रो0 सुशील कुमार जोशी ने स्नातक/स्नातकोत्तर, द्वितीय सेमेस्टर की परीक्षाओं, बी0एड0/एम0एड0, पी0एचडी0 प्रवेश परीक्षाओं के संबंध में विस्तार से रूपरेखा प्रस्तुत की। उन्होंने कहा कि हमने परीक्षाओं हेतु पूरी तैयारियां की हुई हैं। हम विद्यार्थियों के परीक्षा संबंधित विभिन्न समस्याओं का शीघ्रता के साथ समाधान कर रहे हैं। उन्होंने सभी सदस्यों का परिचय कराया।
विश्वविद्यालय के कुलसचिव श्री सुधीर बुड़ाकोटी ने स्नातक/स्नातकोत्तर के तृतीय सेमेस्टर में अनंतिम प्रवेश दिए जाने और इससे संबंधित नियमों से बैठक के सदस्यों को अवगत कराया। उन्होंने काॅलेजों की संबंधता के प्रकरणों से भी कुलपति को अवगत कराया।

अंतिम परीक्षा के आधार पर प्रमोट किया जाएगा

परीक्षा समिति की बैठक में निर्णय लिया गया कि स्नातक/स्नातकोत्तर, द्वितीय समेस्टर के विद्यार्थियों को उनके आंतरिक मूल्यांकन और अंतिम परीक्षा के आधार पर प्रमोट किया जाएगा। साथ ही संबंधित संकायों, विभागों के अध्यादेशों में वर्णित नियमों के आधार पर परीक्षाफल घोषित किए जाएंगे। स्नातक/स्नातकोत्तर, द्वितीय सेमेस्टर के परीक्षाफल के निर्माण के लिए निर्धारित तिथियों के भीतर विद्यार्थियों द्वारा प्रदत्त कार्य जमा किए जाएंगे और जिन विद्याार्थियों द्वारा विश्वविद्यालय के द्वारा निर्धारित समय सीमा के अंतर्गत प्रदत्त कार्य जमा नहीं किए जाएंगे तथा अनुपस्थित रहने की दशा में अगली कक्षा के लिए प्रमोट नहीं किया जाएगा।

यह लोग रहे मौजूद

परीक्षा समिति की बैठक के सदस्यों के रूप में कुलसचिव श्री सुधीर बुड़ाकोटी, डाॅ0 देवेंद्र सिंह बिष्ट (विश्वविद्यालय विशेष कार्याधिकारी), डाॅ0 मुकेश सामंत (सहायक परीक्षा नियंत्रक), डाॅ0 भाष्कर चैधरी (सहायक परीक्षा नियंत्रक), प्रो0 प्रवीण सिंह बिष्ट (अधिष्ठाता प्रशासन), प्रो0 जी0सी0 साह (अधिष्ठाता परीक्षा), प्रो0 जया उपे्रती (संकायाध्यक्ष, विज्ञान), प्रो0 के0 सी0 जोशी (संकायाध्यक्षक, वाणिज्य एवं प्रबंधन), प्रो0 ए0 के0 पंत (संकायाध्यक्ष, विधि), प्रो0 वी0 आर0 ढौड़ियाल (संकायाध्यक्ष, शिक्षा), डाॅ0 संजय कुमार (परीक्षा प्रभारी, राज0 स्नातकोत्तर महा0, रानीखेत), डाॅ0 संगीता गुप्ता (प्राचार्य, राज0 स्ना0 महा0, लोहाघाट), डाॅ0 पवन कुमार झा (रा0 महा0, कपकोट), डाॅ0 एस0 एस0 धपोला (रा0 महा0 बागेश्वर), डाॅ0 राम चंद्र मौर्य (परीक्षा प्रशासन), डाॅ0 पीयूष पोखरिया (परीक्षा प्रशासन), विपिन जोशी, श्री देवेंद्र पोखरिया, श्री विनीत काण्डपाल आदि मौजूद रहे।